Hasi Ne Labo Pe Aana Chod Diya Shayari

 

Hasi Ne Labo Pe Aana Chod Diya Shayari


हसी ने मेरे लबो पे आना छोड़ दिया

ख्वाबों ने पलकों पे आना छोड़ दिया

अब आती नहीं हिचकिया मुझे

शायद आप ने मुझे  याद करना छोड़ दिया


 

Leave a Reply

whatsappimages.in